Over Breathing
ओबर ब्रीदिंग जिसके बारे में हम बात कर रहे हैं आखिर वो है क्या ? बहुत कम लोग ही जानते हैं इसके बारे में । कपालभाति क्रिया जिसे ज्यादा तेजी से या बहुत ज्यादा अभ्यास करनें ब्रेन को नुकसान भी हो सकता है। इसतरह की Rapid Fire Breathing से आप Over Breathing यानी वो अवस्था जब ब्रेन में अॉक्सीजन की मात्रा काफी बढ़ जाता है और कार्बनडाइऑक्साइड की मात्रा में कमी हो जाती है जिससे दोनों का संतुलन बिगड़ जाता है और ब्रेन में ब्लड का फ्लो नहीं पहुँच पाता है। इसके कारण  Over Breathing की ये स्थिति ब्रेन के साथ नर्वस सिस्टम, चेस्ट पेन, एनजाइटी,हाथ में कंपन, आदि नुकसान कर सकती है। क्योंकि संम्पूर्ण शरीर को ब्रेन के द्वारा ही संतुलन में रखा जाता है । इसलिए प्राचीन योगियों ने इसी को समझते हुए Slow breathing पे ज्यादा फोकस किया , साथ ही ख्याल रखा गया कि सांस छोड़ना और रोकने की प्रक्रिया लेने से कहीं ज्यादा हो और इस ओवर ब्रीदिंग की समस्या से बचा जाए।बता रहे हैं योग गुरु धीरज जी कपालभाति (Over Breathing) की सही क्रिया और जानिए क्या है इसका असली सच ?
नमस्ते ऊँ 
शेयर करें   
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
. . . . Continued
Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© 2015 VYF Health | Ashtanga Yoga, Hatha Yoga.
Top
#vyfhealth
Follow us:                         
Send