white Web
तक्षशिला का एक साधारण-सा दिखने वाला शिक्षक – आचार्य चाणक्य। दूसरी ओर भारत को पदाक्रांत करने वाला तथाकथित एलेक्जेंडर द ग्रेट । भारत की दुर्दशा से आहत आचार्य चाणक्य मगध पहुंचते हैं, लेकिन सत्ता व शक्ति के नशे में चूर सम्राट धनानंद के हाथों बस चाणक्य का अपमान होता है। आचार्य चाणक्य लौटते हैं गुरुकुल और अपने शिष्यों को एकजुट कर नई चुनौती के लिए अपील करते हैं, योजनाएं बनाते हैं। देखते-देखते महज 3 सालों में यवन सत्ता भारत से उखाड़ दी गई और ज्ञान के प्रति सम्मान का भाव ना रखने वाले मगध सम्राट धनानंद को भी बाहर का रास्ता दिखाया गया। आचार्य चाणक्य को हर मुमकिन कोशिश की गई रोकने की , लेकिन अखंड भारत का भविष्य अटल था। योग की प्राचीन व वास्तविक पद्धति को स्थापित करने का ऐसा ही अखंड संकल्प ले वशिष्ठ योग आश्रम अपने प्रयास व प्रयाण में लगा हुआ है। सही पद्धति ने रिजल्ट दिखाना शुरु कर दिया। लोगों को बहुत परिणाम मिल रहें हैं। बीमारियां मैनेज हो रहीं हैं, कई मिट रही हैं। शरीर की पीड़ा कम हुई तो मानसिक शांति की राह सामने दिखने लगी। योग के नाम पर फैलाएं जा रहें बाज़ार बेनक़ाब होने लगे तो घबड़ाहट शुरु हो गई। योग के नाम पर एक्सरासाइज़ वे उछलकूद पर सवाल खड़े किए गएं , तो बरसों से गलत सीख की भ्रमित इमारत हिलने लगी। योगगुरु धीरज के मार्गदर्शन में वशिष्ठ योग आश्रम हर दिन नई योग ऊंचाईयों से लोगों को दो-चार करने लगा। कोरोना काल में लोगों ने योगगुरु धीरज की टीचिंग को अपनाकर कोरोना को मात दी। कई मीडिया संस्थानों ने इसे कवरेज़ देना शुरु किया, चर्चा सरेआम होने लगी। बस , यहीं से समस्याएं शुरु हुई । कुछ लोगों की योग की ये वास्तविकता का प्रसार आंखों में चूभने लगा। लगने लगा कि योग ठीक-ठीक पहुंच गया तो बाकी दुकानों का क्या होगा ? कहीं ये व्यक्ति सामने आ खड़ा हुआ तो कैसे जवाब देते बनेगा कि योग के नाम पर कभी भ्रम तो कभी डर बनाने का सालों खेल चला ? कभी झूठे कॉपी राइट नोटिस देकर हमारे मनोबल तोड़ने की कोशिश शुरु हुई तो , कभी कुत्सित इरादों के साथ हर वीडियो के खिलाफ अभियान चलाकर यूट्यूब से हटाने की कोशिशों को परवान चढ़ाया गया। यूट्यूब से एक-एक कर योगगुरु धीरज चैनल के वीडियो हटाए जा रहे हैं। चैनल को हो सकता है टर्मिनेट यानी यूट्यूब से हटा दिया जाए, या हटाने की कोशिश की जाए। लेकिन इससे हमारा प्रयाण खत्म नहीं होता, हमारा संकल्प कमजोर नहीं होता। गुरु वशिष्ठ की शिक्षा की दृढ़ता हिल नहीं पाईगी  

क्या करें फिर ? 

याद कीजिए तुलसीदास को । कैसे उनकी रचना को मिटाने की कोशिश हुई थी। गंगा के जलों में जलाकर प्रवाहित कर दिया गया था। याद कीजिए सुकरात को , कैसे उन्हें जहर दे दिया गया था। याद करें बुद्ध को , कैसे गलत सामाजिक व्यवस्था व आडंबरों पर उन्होंने सवाल खड़े किए थे , तो उन्हें गालियां सुननी पड़ी थी, ट्रोल किया गया था। याद कीजिए महावीर को, जिन्हें दुष्टों ने कान में लकड़ी तक ठोंकने का काम किया। याद करें ,जीसस की वो कारुणिक स्थिति जब उन्हें आध्यात्मिकता के सत्य को बताने की सजा , चोरो के साथ कील पर लटकने के साथ दी गई। आचार्य चाणक्य की चोटी को घसीट कर उन्हें अपमानित व निर्वासित किया गया था। इन तमाम अड़चनों के बाद सत्य परेशान जरुर हुआ, पराजित नहीं। हम भी पराजित नहीं होंगे। योग की वास्तविक प्राचीन पद्धति को जनहित में घर-घर, गली-गली पहुंचाने के संकल्प से भरे हैं हम। आचार्य चाणक्य की तरह सभी छात्रों-शिष्यों को एकजुटता का परचम लहरा देना है। फिर जिसे लघु रुप समझ छेड़ा जा रहा है वहीं दुनिया को योग का विश्वंभर रुप दिखाएंगा। अब जाग जाना है, एक जुट होकर , नूतन योग आंदोलन का हिस्सा बन जाना है। योगबली इसी नए योग आंदोलन की शुरुआत है 
 

क्या है योगबली ? 

योगगुरु धीरज के मार्गदर्शन में वशिष्ठ योगाश्रम के नूतन आंदोलन को नाम दिया गया है ‘योगबली’। जो भी साधक योग के इस अभियान से जुड़ेंगे वो ‘योगबली’ कहलाएंगे। योगबली उन सभी साधकों , व्यक्तियों का संगठन है, जो प्राचीन वास्तविक योग को निहित स्वार्थी तत्वों से दूर रख जनकल्याण हेतु उसकी रक्षा, संरक्षण , विस्तार व प्रचार करेंगे। चाहे छात्र हो,साधक , योगशिक्षक, नौकरी पेशेवर, व्यवसायिक या कोई भी इस आंदोलन का हिस्सा बन सकेंगे। आंदोलन में जुड़ने वाले धीरे-धीरे कई भागों में अपनी अपनी योजनाओं को अमली जामा पहनाएंगे। सभी लोग वशिष्ठ योग आश्रम व योगगुरु धीरज जी से सीधे संपर्क में आकर अभियान को धार देते रहेंगे। ज्यादा समर्पित व सक्रिय साधकों को कोर ग्रुप का हिस्सा बनाकर बड़ी भूमिका समय-समय पर समीझा कर सौंपी जाती रहेगी। योगबली आंदोलन से जुड़ने के लिए फिलहाल आप संस्था के व्हाट्सएप नंबर- 6354325086  पर अपना नाम , स्थान व कार्य का विवरण दें, जुड़ सकते हैं। एकबार सारे डाटा का संग्रहण होने के बाद हम आगे की योजना में व्यक्ति-व्यक्ति को जोड़ते चले जाएंगे और योग का ये महायज्ञ अपनी दिव्यता व ध्येय की ओर बढ़ता चलेगा 
योगबली अभियान में जुड़ने के लिए बहुत आभार। गुजारिश है गूगल फॉर्म के नीचे दिए गएं लिंक को क्लिक कर संबंधित जानकारी मुहैया कर फॉर्म सम्मिट करें  

https://forms.gle/AZYYNBSWzNg54yEg8    किसी भी तरह की असुविधा होने पर हमें फोन या व्हाट्स एप पर संपर्क करें आभार  

 

योगबली को लेकर योगगुरु धीरज की अपील को ध्यान से सुनें 

 

Click-वशिष्ठ योग आश्रम फेसबुक से जुड़ें   

Click-वशिष्ठ योग इंस्टाग्राम पेज से जुड़ें  

Click-योगगुरु धीरज फेसबुक पेज से जुड़े    

Click-योगगुरु धीरज इंस्टाग्राम पेज से जुड़ें  

आश्रम का पूरा पता-वशिष्ठ योग आश्रम ,शांग्रीला विलेज कृष्णा शैल्बी हॉस्पिटल के पास, घुमा,अहमदाबाद  

Whatsapp No – 6354325086   

6351768378 

guruvyf@gmail.com 
Google location of Ashram : https://goo.gl/avSyEe
खुद जुड़ें और जोड़ें 
आभार नमस्ते 
शेयर करें
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
. . . . Continued
  1. May 16, 2020

    मुझे आपके व्यवसाय से बहुत लाभ मिला है। आपका बहुत बहुत धन्यवाद

    • June 3, 2020

      यहां व्यवसाय नहीं सेवा है…… सनातन है…. दुर्भाग्य से कुछ लोग दुकान बना रखें हैं

  2. May 16, 2020

    All the best

  3. May 16, 2020

    मैं वशिष्ठ योग के योग बली कार्यक्रम का सक्रिय सदस्य बनना चाहता हूं

  4. May 16, 2020

    I am a LIC financial advisor.l am support you mission..

  5. May 16, 2020

    We need vashishth yog type scientifically explained and detail explaination of right posture of asanas and correct way of Pranayam.

  6. May 16, 2020

    Namaskar
    Jai Bharat

  7. May 16, 2020

    नमस्कार
    आप कि योग विद्या अद्वितीय है।

  8. May 16, 2020

    I am fortunate enough to come across yog guru Dheeraj channel almost 2 yrs ago.Since then practicing with him regularly. With his unique style of explanation and follower friendly approach I am experiencing enormous physical and mental well being.I would like to offer my sincere appreciation and my deepest THANKS.

  9. May 17, 2020

    buruji

  10. May 17, 2020

    पारंपरिक योग विधि समुच्य मानव जाति के लिए ऋषियों ने भारतवर्ष को दी हुई धरोहर है।
    योग का जतन यापन करना यह हमारी नैतिक जिम्मेवारी है।योग-गुरु धीरज-जी जैसे महानुभाव इसकी जिम्मेवारी बहुत अच्छी तरह से निभाते आरहे है,हमे उनको सहयोग करना चाहिए।जैसे जगदगुरू आदिशंकराचार्य ने वेद व उपनिषद शुद्ध किये थे वैसे योग को भी शुद्ध करना है,उस अभियान में मैं अगर आपके साथ कुछ कर सकूं मैं बड़ा भाग्यशाली रहूंगा।

    • May 31, 2020

      बहुत-बहुत आभार, आपका विचार जानकर अच्छा लगा ऊँ

  11. May 17, 2020

    ओम गुरुजी प्रणाम मे संदीप सुरेश माळी मु पो नेर ता जि धुळे महाराष्ट्र से प्रगतिशील किसान हूं

  12. May 17, 2020

    Guruji pranam. Please include me in the activities as I am a great fan of your teachings and your philosophy. Blessed to be your student

  13. May 17, 2020

    RAM RAMETI RAMETI RAME RAMAE MANORAMAE

  14. May 17, 2020

    हम आपके साथ है

  15. May 17, 2020

    good idea

  16. May 17, 2020

    मुझे योग पसंद है ओर मुझे गर्व है योग प्राचीन भारत की धरोहर है ।

  17. May 17, 2020

    मुझे योग पसंद है ओर मुझे गर्व है योग प्राचीन भारत की धरोहर है । ओर मुझे योग शिखना है

    • May 31, 2020

      आश्रम संपर्क करें –
      6354325086

  18. May 17, 2020

    मुझे योग पसंद है ओर मुझे गर्व है योग प्राचीन भारत की धरोहर है ओर मुझे योग्य शिखना है

  19. May 17, 2020

    Sandar ji

  20. May 17, 2020

    आपका बहुत बहुत आभार। वैसे भी आजकल गुरु परंपरा को ग्रहण लग गई है और हमारी प्राचीन विद्या लुप्त प्रायः है। यदि आपके सहयोग से उनमें से कुछ विद्या का सहयोग भी हो सका तो हमारी उपलब्धि होगी।

  21. May 17, 2020

    हम आप के साथ है

  22. May 18, 2020

    Kripaya ujjayi detail main sikhaye…i have seen the single video of ujjayi…but yogi ji it is not clear…

  23. May 18, 2020

    Yoga guru Sri dheeraj g ka yoga achha h. Guru g hum aap ke saath h.

  24. मैं काफी समय से आपको फॉलो करता हु गुरुजी।मैने आपके बताये अनुसार योग किया मुझे बहुत फायदा हुआ।मैं कई रोगों से ग्रस्त था अब स्वस्थ हु।
    मैं इस अभियान मे वशिष्ठ आश्रम के साथ हु।
    एक बार पुनः धीरज का बहुत बहुत धन्यवाद।।

    व्हाटसअप नं-9610189818
    व्यवसाय-निजी शिक्षक,कॉन्ट्रेक्टर

  25. May 19, 2020

    आप होंगे कामयाब एक दिन ।

  26. May 26, 2020

    Nice sir

  27. June 14, 2020

    आप वास्तविक और आरोग्यदायक योग प्रशिक्षण देते है…..

  28. June 15, 2020

    आप जुड़ ने से मुझे कमर दर्द बिल्कुल ठीक हुआ है और नियमित जहां अपेक्षित वहां उपस्थित यह मैरा अटल निर्णय है |किसी भी परिस्थिति में संकल्प बद्ध हूँ

    • July 7, 2020

      बहुत अच्छा अभ्यास जारी रहें..ऊँ

  29. July 7, 2020

    आभार ऊँ

2 Trackbacks

  1. […] जैसे कई कदम इस दिशा में बढ़ते गएं। आगे योगबली भी इसी प्ररेणा और योग की सनातन […]

  2. […] जैसे कई कदम इस दिशा में बढ़ते गएं। आगे योगबली भी इसी प्ररेणा और योग की सनातन […]

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© 2015 VYF Health | Ashtanga Yoga, Hatha Yoga.
Top
#vyfhealth
Follow us:                         
Send