1267628_10151814541991866_451600955_o
पुरुषों के मुक़ाबले महिलाएँ अपने सेहत और रुप-काया के लिए कहीं ज़्यादा जागरुक हैं। अपनी पूरी ज़िंदगी में महिलाएं कई तरह के हार्मोन संबंधित बदलाव से गुजरतीं हैं। हार्मोन में होने वाला ये लगातार बदलाव उन्हें शारीरिक, मानसिक और इमोशनल तल पे झकझोर देती हैं, और कई तरह की व्यक्तिगत चुनौतियां उनके सामने आ खड़ी होती हैं। महिलाओं के इस जद्दोजहद को समझते हुए वशिष्ठ योग यहां 5 ज़रुरी योग विडियो पेश कर रहा है, जिसके लगातार अभ्यास से आप ना सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक और इमोशनल तल पे ज़्यादा संतुलित खुद को पा सकेंगी। अगर योग जीवन का आधार है, तो महिलाएँ हमारे परिवारिक जीवन की आधार संजीवनी  
 

1. चेहरे को दें नेचुरल निखार 

पेड़ के पत्ते मुर्झा जाएं, तो उन्हें हरा करने के लिए पानी और जड़ों को हवा पहुंचाने की जरुरत है। मुर्झाएं चेहरे की ओर जितना ऑक्सीजन से भरपूर ब्लड पहुंचेगा उतना ज्यादा फेश पे नुचरल निखार आएंगा। फेशियल क्रीम को आपने बहुत आजमा लिया, अब चेहरे में निखार लाने वाले इस योगासन का आप लगातार अभ्यास कर दिख लें 

2.  पेट की चर्बी को बाय-बाय  

काफी वर्कआउट करके भी आपका बेली फैट या पेट की अतिरिक्त चर्बी घटने का नाम नहीं ले रही होगी। फैट के कन्केशन को समझें बगैर हम कितना भी वर्कआउट कर लें, ये जाने वाली नहीं। दरअसल, बेली फैट आपके तनाव और कमजोर हो रहें मेटाबोलिज्म से संबंधित है। योग ना सिर्फ तनाव दूर करने में उपयोगी है, बल्कि ये मेटाबोलिज्म को एक्टिव कर एक्स्ट्रा फैट को बाय-बाय करता है। हां, पूरी नींद, बेहतर लाइफस्टाइल और थोड़ा-थोड़ा कई बार हेल्थी फूट योग के साथ ज़रुर एड कर लें  

3. साइड बॉडी को दें एटरेक्टिव शेप्स 

दैनिक जीवन में अक्सर हम आगे छूकते रहते हैं, इसतरह हमारे कई बैक और फ्रंट मसल्स स्ट्रेच हो जाते हैं, लेकिन साइड बॉडी को हम कम ही स्ट्रेच कर पाते हैं। हमारे शरीर का साइड शेप्स सबसे ज़्यादा इन दिनों बिगड़ा-बिगड़ा-सा है। नीचे दिए गएं आसनों का सीरीज़ ख़ासतौर पे आपके शरीर के साइड हिस्से को स्ट्रेच कर ताजग़ी और बाद में बेहतर शेप्स का एहसास देगा  

4.  पेनफुल पीरियड और दूसरी समस्याओं में योगबाण 

बदलती लाइफस्टाइल और तनाव ने महिलाओं की नेचुरल पीरियल को भी पेनफुल और अनिमित कर रखा है। इस वजह से रोजमर्रा की ज़िंदगी बहुत अस्त-व्यस्त और उलझन भरी लगती है। योग थेरेपी का मानना है कि ‘अपान प्राण’ में आया डिस्टर्बेंन्स इसकी वजह है। योगगुरु धीरज जी के मार्गदर्शन में बनी इस योगासन सीरीज़ की नियमित अभ्यास से आपके अपान प्राण का फ्लो नियमित होगा और इसतरह पीरियड से संबंधित सभी तरह की समस्याओं से मिलेगा छुटकारा 

5. सबसे सरल प्राणायाम से दें तन-मन को ताज़गी 

घर की जिम्मेदारी हो या बच्चे और परिवार के दूसरे सदस्यों की फिक्र, महिलाएँ दिनभर इसमें इसतरह से झुलस जाती हैं कि उन्हें खुद का फिक्र नहीं रह पाता। हर दिन का ये भागदौड़ आपकी ना सिर्फ एनर्जी को खत्म करता है, बल्कि तनाव और फर्स्टेशन का भी आपको शिकार बनाता है। प्राणायाम अपनी ऊर्जा को अपलिफ्ट करने के साथ मूड को बेहतर करने का सबसे आसान तरीक़ा है । महिलाएँ इमोशनल भी होती है, प्राणायाम आपके इमोशन को भी बैलेंस कर आपको बेहतर महसूस कराता है। इस विडियो में दो योगिनी के जरिए सबसे सरल प्राणायाम बताया गया है। आप इसे समझें और करें। महज 5 मिनट के बाद ही आप अंतर को महसूस करेंगे 
सेहतमंद और खुशहाल महिलाओं से होगा खुशहाल परिवार 
परिवार के हित में शेयर करें 
 
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
. . . . Continued
  1. July 15, 2017

    Great Gutudev

Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© 2015 VYF Health | Ashtanga Yoga, Hatha Yoga.
Top
#vyfhealth
Follow us:                         
Send