top 10 like videos
योग पे बहुत सटीक विडियो का अभाव रहा है। खासकर यूटूब पे योग कम सनसनी या झूठे दावे कर योग विडियो को परोसा जाता रहा है। ऐसे में, योगगुरु धीरज चैनल योग साधकों के बीच एक नई उम्मीद बन सामने आया है। चाहे योग की बारीक जानकारी हो, या फिर सही सही आसन-प्राणायाम का विज्ञान , चाहे योग की चिकित्सीय महत्व को परोसने की बात हो, या फिर सरल तरीके से योग निदान के साथ योग के झूठे दावों पे प्रहार – योगगुरु धीरज के विडियो हर लोगों का पसंदीदा बना।  इसबीच इन डेढ़ सालों में, हमनें 100 से ज्यादा विडियो जारी किएं। अब बारी है 10 टॉप विडियो आपके सामने चुनकर एक जगह रखने का काम। विडियो का यहां चुनाव व्यूज़ के आधार पे ना होकर एक ऐसे क्रम को पेश करने से है जो जनहित के लिए ज्यादा उपयोगी हो सके। 100 विडियो में 10 को चुनना कठिन है, क्योंकि हर विडियो के कंटेंट अपने आप में भी अनोखा है। योग दर्शकों ने भी हमें यूटूब पे सुझाव रखें और उन्हें भी कमोबेश यही समस्या थी। दो सबसे बेहतरीन सीरीज़ को हमारे यूटूब के साधक अनिल टोडकरी जी और देवेश पंत जी ने भी कमेंट में सुझाया है। यहां अब योगगुरु धीरज जी के 10 पसंदीदा विडियो का क्रम इसतरह से है – 
 

1. सूर्यनमस्कार- सही आसन तरीका, सांस और चलित ध्यान     

  1. सूर्यनमस्कार बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है, लेकिन देखा गया कि साधक तो छोड़ दें बहुत बड़े गुरु भी इसमें होने वाले आसनों को गलत तरीके से सीखा रहें हैं, जिससे इसका बहुत कम फायदा लोगों को मिला। हां, ये मुमकिन है कि सूर्यनमस्कार के कई तरीके हो सकते हैं, लेकिन तरीका कुछ भी हो , उसमें किया जाने वाला आसन गलत नहीं बताया जा सकता। ऐसे में सूर्यनमस्कार लोगों की रुचि और जरुरत के मुताबिक टॉप नंबर वन है।
 

 2. 5 प्राण और 5 आसन

योग का पहला बेसिक मकसद है रोग को रोकना। योगसूत्र में पतंजलि से कहा भी हेयं दुखम् अनागतम्  यानी आने वाले दुखों को हटाओ। अगर हम शरीर में मौजूद पंच वायु प्राण को समझ कर उसे सेहतमंद रखें तो हमें कई बीमारियां कभी होगी ही नहीं। हैरानी है कि बड़े बड़े योगगुरु और संस्था इन बारीक महत्व की चीज को ना बताकर बस बड़े बड़े दावों में जनसमुदाय को उलझाएं रखें हैं।
 

3. 5 प्राणायाम सुबह जरुर करें, निरोग रहें 

प्राण के विस्तार का नाम है प्राणायाम। सांस जीवन की कड़ी है तो मन का लगाम भी है सांसों के ऊपर। सांस हर रोग की दवा है तो सांस है ध्यान का सूत्र। प्राणायाम की प्रसिद्धि के साथ इसके करने के तरीके में भी बहुत सारा घालमेल है। प्राचीन वक्त से स्लो डीप ब्रीदिंग बहुत मायने रखता है, लेकिन निजि स्वार्थ में आजकल के कुछ योगियों ने फास्ट ब्रीदिंग को जरुरत से ज्यादा जोर दे रखा है। ऐसे में 5 जरुरी प्राणायाम का सही तरीका समझना जरुरी है।
 

4. थोड़ा वक्त, बड़ा लाभ, 10 बेसिक आसन

सूर्यनमस्कार के साथ कोई भी व्यक्ति अगर इन आसनों को नियमित करें तो पूरे शरीर को जैसे संपूर्ण खुराक या ऊर्जा मिल जाएं। योगुरु धीरज के जरिए 10 आसनों का ये क्रम सरल के साथ साइंटिफिक भी है, जो ज्यादा लाभ को सुनिश्चित करता है, वो भी जब वक्त की मारामारी हो और कम में ज्यादा लाभ की संभावना हम खोज रहें हों।
 

5. 1 Vegus Nerve , संपूर्ण सेहत की गारंटी 

योगगुरु धीरज जी का ये विडियो गागर में सागर जैसा है। हमारे शरीर का ये नर्व हमारे सभी जरुरी आंतरिक अंगों के साथ जुड़ी है। अगर हम सांस का खास तरीका अपनाएं तो वो वेग्स नर्व को एक्टिव कर हमारे पूर्ण सेहत को सुनिश्चित करेगा। हैरानी है कि इस खूबी को आज के तथाकथित टीवी वाले गुरु क्यों नहीं बताते या समझ नहीं रखते। जनसामान्य तक आखिर प्राचीन योग चिकित्सा पद्धति को कौन पहुंचाएंगा ?
 

6. मोटापे को कम करने का असली फंडा 

मोटापे कम करने के नाम पे सब लोगों ने दरअसल अपनी चांदी ही काटी है। कहीं मोटापे कम कराने के नाम पे शारीरिक अत्याचार वर्कआउट के नाम पे। दरअसल शरीक को छरहरा रखना सरल है, अगर हम कुछ जरुरी तथ्यों को ध्यान रखें। फिर बिना एक्सरसाइज़ के भी हम मोटापे को मैनेज कर सकते हैं। योगगुरु के इस वीडियो में ऐसे ही टिप्स की पूरी पड़ताल देखें।  
 

7. वशिष्ठ प्राणायाम सरल और असरकार 

ऐसे वक्त में जहां गैरजरुरी तरीके से ज्यादा से ज्यादा कपालभाति कराकर लोगों को वास्तविक योग लाभ से महरुम रखा गया, वहां वशिष्ठ प्राणायाम एक आशा बनकर सामने आया है। ज्यादा कपालभाति से ओवर ब्रीदिंग की समस्या और फिर ब्रेन के साथ नर्वस सिस्टम में गड़बड़ी के कई मामले सामने आते रहें हैं, वहीं सूर्यनाड़ी को ज्यादा एक्टिव होने से एसिड, गैस , जलन , कब्ज जैसी कई समस्याएं बनी। वहीं वशिष्ठ प्राणायाम चंद्रनाड़ी को एक्टिव कर ज्यादा हीलिंग और चिकित्सा हमारे शरीर को देता है। वहीं ये सरल इतना कि बीमार व्यक्ति भी इसे कर लाभ ले सकता है। करें और असर महसूस होगा
 

8. वीर्यवान बनाएंगा ये योग चिकित्सा 

तनाव और जीवन की भागदौड़ ने सेक्स संबंधित कई समस्याओँ को जन्म दिया है। इससे ना सिर्फ कुंठापन बढ़ा है बल्कि पारिवारिक संबंधों में भी खटास बढ़ रही है। ऐसे में ये योगविडियो कई समस्याओं का समाधान है।
 

9. नाभि-छाती के बीच दूरी बढ़ाओं, रोग मिटाओ 

लोग कार गाड़ी के एलाइन्मेंट पे बहुत जोर देते हैं,लेकिन खुद के शरीर का ढांचा इसकतर बेतरतीब तरीके से बिगड़ा हुआ है कि आंतरिक अंग और प्राण का फ्लो गड़बड़ हो चला है। आपको हैरानी होगी कि थोड़ा सा बैठने चलने की स्थिति को ध्यान में रख आप अपने आंतरिक अंगों को बेहतर और प्राण के फ्लो को नियमित रख कई बीमारियों को दूर रख सकते हैं
 

10. ऊँ की अनसुनी अनकही चिकित्सीय लाभ 

चाहे सनातन धर्म हो या जैन-बौद्ध-सिक्ख संप्रदाय , ऊँ की उपयोगिता को सबलोगों ने मतभेदों के बीच स्वीकारा है। ऊँ के आध्यात्मिक महत्व से सब वाकिफ है, लेकिन योगगुरु धीरज इस विडियो में बता रहें हैं कि कैसे ऊँ काम करता है और हमें शारीरिक-मानसिक और संवेगात्मक परेशानियों से बचाता है। कैसे साधारण सा दिखने वाला ऊँ कई बीमारियों को रोकता है। आपने सबकुछ जान कर ऊँ को ना जाना तो कुछ ना जाना और अगर आपने कुछ ना जाना लेकिन ऊँ को जान जीवन में उतार लिया तो सब जान लिया। ऊँ
नमस्ते 
जनहित में शेयर करें ताकि आसानी से लोगों को मिले ये क्रम 

 
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
. . . . Continued
Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© 2015 VYF Health | Ashtanga Yoga, Hatha Yoga.
Top
#vyfhealth
Follow us:                         
Send