1 Asan 1 Pranayam web
आज बाइक पर खास बात हम अपने हर कार्य और सरोकार को बाइक से ही पूर्ण कर रहे हैं, ऑफिस, कॉलेज,गली मोहल्ले में जाना हो या दूसरे कुछ भी कार्य हो तो बाइक ही हमारे साथ होता है । कमरदर्द , रीढ़ की समस्या यानी Back Pain, Slip Disk & L4-L5 जैसी Spine Problem से अक्सर bike , Scotty, Delivery boy , Motor cycle Rider वाले दो चार होते हैं। Biker Cycling Sports से जुड़े लोग अक्सर पीठ दर्द का रोना रोते हैं । लगातार बाइक पर बैठने से या लगातार बाइक चलाने से ये समस्याएं होती है। 

आप बाइक का इस्तेमाल करते हैं तो किन बातों का खयाल रखें ?

बाइक चलाएं तो सावधान रहें रोड पर चलते समय जब गढ्ढे या ब्रेकर का सामना हो तो उस समय गाड़ी जंप करती है जिसका असर हमारे रीढ़ की हड्डी( स्पाइनल कॉर्ड ) पर पड़ता है उस वजह से उसमें समस्याएं होती है । जाहिर है अगर स्पाइनल कॉर्ड में किसी भी प्रकार की चोट (इंजरी) लग जाए, तो यह स्थिति पूरे शरीर के लिए घातक हो सकती है। 

बाइक चलाते वक्त योग कैसे सपोर्ट करेगा ?

सबसे पहले आप जब भी बाइक चलाएं तो खास बात याद रखना है कि आप स्पाइन को सीधा करके बैठे , अपने स्पाइन को कंप्रेस ना करें इससे समस्या बढ़ सकती हैं जब भी आप अचानक गड्ढे में जाएं तो नाभी को कांटेक्ट और गुदाद्वार ( उड्डयानबंध और मूलबंध ) का संकुचन करें तो आप को इन समस्याओं से बचाव हो सकता है । साथ में जब लंबी यात्रा पर हों तो बीच बीच में आप रेस्ट करके बॉडी को स्ट्रेच कर लें । विस्तार में वशिष्ठ योगाश्रम से योगगुरु धीरज जी बता रहें हैं कुछ टिप्स व योगासन जिससे आप इन तकलीफों से पा सकते हैं निजात  
  
नमस्ते ऊँ 
शेयर करें
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
. . . . Continued
Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© 2015 VYF Health | Ashtanga Yoga, Hatha Yoga.
Top
#vyfhealth
Follow us:                         
Send