donation
बुद्ध एक ऐसे वक्त में पैदा हुएं जब सनातन धर्म की धारा में कर्मकांड का मिलावट बहुत ज्यादा हो गया था। उपनिषद के संदेश कहीं लुप्त हो रहें थे और आडंम्बरों ने साधना का स्थान ले रखा था। बुद्ध आएँ और उन्होंने साधना के नए संकल्प को जन्म दिया, मध्यम मार्ग जीवन रुपांतरण का बीज बना। मौजूदा वक्त में योग बहुत ज्यादा ही प्रसिद्ध हो रहा है। श्रृषि-मुनियों की कुटिया से निकल आज का योग अमेरिका के टाइम्स स्कवॉयर तक धूम मचा रहा है। क्या पार्क, क्या मॉल- क्या नेता, क्या अभिनेता सभी योग की धुन में रमे हुए दिख रहें हैं , लेकिन योग के पूनम के साथ अमावश की काली छाया फैलनी शुरु हो गई है। साधना की जगह योग के कर्मकांडों ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। योग के नाम पे एक्सरसाइज़ का चलन आम हो गया है। कुछ बाबा और कुछ तथाकथित योगियों ने शॉर्टकट ढूंढ़ रहे हमारे मन की मार्केटिंग भी शुरु कर दी है। कोई कपालभाति को हर मर्ज़ की दवा बता रहा है तो कोई ध्यान के नाम पे योग की पूर्णता से लोगों को दूर कर रहा है। योग का पूरा दर्शन इस दौड़ में बिखरता-टूटता और कहीं सिसकता दिखाई दे रहा है, लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा। कई लोग योग की इन नई मिलावट के ख़तरे को देख पा रहें हैं, लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा ! भारत की धरती से पूरे विश्व को आंदोलित कर रहा हमारा योग आज अपनी ही धरती पे तमाशा या अखाड़ा जैसा प्रतीत हो रहा, लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा। पतंजलि के योगसूत्र को तोते की तरह रट लेने वाली हमारी क्षमता, पतंजलि को जीने की तत्परता में नहीं बदल पा रही, लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा !  योग चिकित्सा, योग आध्यात्मिकता और योग कायाकल्प के सिद्धांत पतन के कगार पे एक धक्के का इंतज़ार कर रही है, लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा! योग की सनातन अविरल धारा को एक भगीरथ प्रयास की जरुरत है, लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा ! योगियों से प्ररेणा पा राजा-महराजे-व्यापारी अपना सबकुछ लुटा साधना की संगम में डुबकी लगाने उतर जाया करते थे, आज वो योगी खुद व्यापार की खट-पट में दिव्य ध्येय से चूके हुए नज़र आ रहें हैं , लेकिन कोई कुछ कर नहीं रहा ! योग अगर घर घर पहुंच ही गया तो जीवन की सामान्य शारीरिक-मानसिक परेशानियों में हम क्यों फंसे दिख रहें हैं ? साफ है योग के नाम पे कुछ और ही परोसा गया , या बेमन से योग हमारे जीवन में घर कर गया है। दधीचि की तरह खुद की अस्थियों का दान दे, सेवा के यज्ञकुंड में आहूति की प्ररेणा देना वाला हमारा योग पौरुष आज कहां हैं ?
आज फिर बुद्ध के मध्यम मार्ग की जरुरत है, आज फिर शंकराचार्य का तेज़ हमें योग रुपांतरण के लिए दिव्य पुकार दे रहा है। इसी पुकार को सुन एक नए योग आंदोलन की शुरुआत हो गई है और गुजरात बना है इसका केंद्र। अहमदाबाद के वशिष्ठ योग फॉण्डेशन चैरिटेल ट्रस्ट की अगुवाई में योग फिर अपनी प्राचीन दिव्यता, रुपांतरण की कीमिया और जीवन को परम अध्यात्मिकता को लिए फिर प्रकट हो रहा है। फॉण्डेशन के संस्थापक योगगुरु धीरज जी के मार्गदर्शन में योग की वास्तविक जानकारी जन जन तक ऑनलाइन और ऑफलाइन सतत पहुंच रही है। परिवर्तन दिख रहा है- महज डेढ़ साल में युटूब पे 1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने हमारे योग वीडियो देखें और हज़ारों लोगों ने कमेंट कर अपने कायाकल्प की जानकारी दी। हाल ही में, वशिष्ठ योग का आवासीय राष्ट्रीय योग शिक्षक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन हुआ, जिसमें साधकों की तरफ से ये संकल्प हुआ कि वशिष्ठ योग का स्वयं का आवासीय आश्रम शीघ्रता-शीघ्र तैयार हो, ताकि लाखों लोग यहां आकर वास्तविक योग के जरिए सेहत, आनंद और आध्यात्मिकता का उत्सर्ग कर सकें। शिविर के बाद एक राष्ट्रीय योग कार्यकरणी समिति का गठन किया गया जो योग आंदोलन में और दृढ़ता के साथ लग योग अलख को जन-जन तक पहुंचाएंगी। 
ऐसे में, आप सभी साधकों से अनुरोध है कि आप भी सेवा के इस योग यज्ञ में अपने सामर्थ्य और श्रद्धा के मुताबिक दान दें और दूसरों को प्रेरित करें। अहमदाबाद में वर्तमान आश्रम गुरुजी और उनके कार्य के लिए काफी है, लेकिन समग्र विश्व को इसका लाभ मिलें इसके लिए एक राष्ट्रीय आंदोलन को आधार देने वाला आवासीय आश्रम बनना नियति की ईच्छा  है। स्वयं आदिगुरु शिव और गुरु वशिष्ठ ऐसी प्ररेणा हमारे अंदर दे रहें हैं, ये इशारा है कि वो मानवता के कल्याण में इस आंदोलन को स्वयं दिशा देना चाहते हैं। आएं, इस योग आंदोलन के गवाह बनें । आएं, इतिहास में दर्ज हो जाएं और योग की वशिष्ठ धारा को अपने अंशदान से सागर की तरह विशाल कर दें। अगर आप के कुछ सहयोग से एक विराट आंदोलन को दिशा मिलती है तो इसमें हर्ज क्या ?  आपका छोटा सहयोग अगर लाखों लोगों के जीवन परिवर्तन की वजह बनती है तो फिर देरी क्यों ? आज ही सह-योग करें। 
 

आपका दान , आश्रम निर्माण 

सहयोग सीधे अकाउंट में अपनी श्रद्धा मुताबिक करें ( कम से कम 300 रुपएं राशि )

Account Holder name : Vashistha Yoga Foundation 

PNB A.C. NO : 4889000100017945  

IFS CODEPUNB0488900   

Bank Location : S G highway , Ahmedabad

संपर्क सूत्र – 6354325086   

guruvyf@gmail.com  

बहुत आभार और शुभकामनाएँ !  

 

 मौजूदा आश्रम का पता :  वशिष्ठ योग आश्रम, सांग्रीला विलेज़, घुमा ,  अहमदाबाद

Ashram  

देश के विभिन्न प्रांतों से आएँ साधक योग टीचर ट्रैनिंग में, विदेशों से भी आए प्रवासी भारतीय 

IMG-20190414-WA0137  

 राष्ट्रीय योग कार्यकरणी समिति का गठन- योग शंखनाद की गूंज 

IMG-20190416-WA0008   इससे पहले की बेहोशी सघन हो जाए, होश को अपना हमसफर बना लें। जीवन को एक मक़सद से जोड़ें। योग यज्ञ में आहुति के लिए तत्पर हों ! 
धन्यवाद, नमस्ते 
शेयर करें ! 
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
. . . . Continued
Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© 2015 VYF Health | Ashtanga Yoga, Hatha Yoga.
Top
#vyfhealth
Follow us:                         
Send